शक्ति और रोमांच का खेल : फुटबॉल

72 views

फुटबॉल एक ऐसा खेल है, जिससे आपका शारीरिक एवं मानसिक स्वास्थ्य उत्तम रहता है। यह एक प्रसिद्ध खेल है। इस खेल को पैर के साथ एक गेंद को ठोकर मारकर खेला जाता है, इसलिए इसे फुटबॉल कहा जाता है। फुटबॉल एक आउटडोर खेल है। यह खेल दो टीमों द्वारा खेला जाता है। इसमें दोनों टीमों में 11-11 खिलाड़ी होते हैं। हर टीम का लक्ष्य एक-दूसरे के खिलाफ  अधिकतम गोल करना होता है। इस खेल की अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिता 90 मिनट की होती है, जिसे 45-45 मिनट के दो भागों में बाँटा जाता है। प्रतिद्वंद्वी टीम के गोल को रोकने के लिए दोनों पक्षों में एक-एक गोलकीपर होता है। इस खेल में गोलकीपर को छोड़कर किसी भी अन्य खिलाड़ी को गेंद को हाथ से छूने की अनुमति नहीं होती। जो टीम दूसरी टीम के खिलाफ  अधिक गोल बनाती है, वह जीत जाती है। इस खेल को खिलाड़ी उचित ढंग से खेलें, इसके लिए एक रेफरी और दो लाइनमैन होते हैं। खेल के नियमों का सख्ती से पालन करना होता है। अब फुटबॉल एक अंतरराष्ट्रीय खेल बन गया है। हर चार साल के बाद वर्ल्ड कप टूर्नामेंट के रूप में विश्व की श्रेष्ठ टीमें इस वर्ल्ड कप में भाग लेती हैं। फीफा वर्ल्ड कप की पिछली चार विजेता टीम ब्राजील (2002), इटली (2006), स्पेन (2010) और जर्मनी (2014) हैं।

नियमित रूप से फुटबॉल खेलने से एकाग्रता बढ़ती है, शरीर मजबूत और चुस्त रहता है। इस खेल को लगभग सभी आयु वर्ग के लोग खेल सकते हैं। बच्चों, विशेषकर विद्यार्थियों को यह खेल अवश्य खेलना चाहिए, क्योंकि इससे आपका शारीरिक एवं मानसिक विकास होता है।