मोमेंटम झारखंड

194 views

बच्चो, क्या तुम्हें पता है कि झारखंड खनिज, वन एवं अन्य प्राकृतिक संसाधनों से संपन्न राज्य है। जरूरत है इन संसाधनों का समुचित उपयोग कर औद्योगिक विकास की दिशा में राज्य को अग्रसर करने की। इस उद्देश्य की पूर्ति हेतु 16 एवं 17 फरवरी, 2017 को निवेश के लिए राँची स्थित खेलगाँव में प्रथम मोमेंटम झारखंड ‘वैश्विक निवेशक सम्मेलन’ का आयोजन किया गया। मोमेंटम झारखंड ‘वैश्विक निवेशक सम्मेलन’ में भारत सरकार के12 केंद्रीय मंत्रियों की उपस्थिति में कुल 11 हजार 20 प्रतिनिधियों ने भाग लिया। इसमें विभिन्न देशों, जैसे—ऑस्ट्रेलिया के उच्चायुक्त, जापान, मंगोलिया, चेक गणराज्य एवं ट्यूनीशिया के राजदूत सहित 600 विदेशी प्रतिनिधि उपस्थित थे। इस सम्मेलन में 3 लाख 10 हजार 287 करोड़ रुपए केनिवेश हेतु कुल 210 एमओयू पर हस्ताक्षर किए गए। इस निवेश से 6 लाख 3 हजार से अधिक व्यक्तियों को रोजगार मिलने की संभावना है।

 

उड़ता हुआ हाथी को मोमेंटम झारखंड का प्रतीक चिह्न बनाया गया। हाथी का रंग लाल है, जो झारखंड के समग्र विकास का जुनून एवं क्रांति का प्रतीक है। उड़ते हाथी में हरे रंग के पंख लगे हैं। हरा रंग प्राकृतिक संपदाओं को सुरक्षित रखते हुए सतत विकास के लिए निरंतर प्रयास का प्रतीक है। हाथी का कान नीले रंग का है, जो राज्य की शांति और सुरक्षा का प्रतीक है।

 

इस आयोजन में निम्नलिखित 8 विषयों पर चर्चा की गई—

  1. खान एवं खनिज विकास ः झारखंड में निवेश की संभावना।
  2. ऊर्जा, पर्यटन, सड़क और रेल संपर्क केक्षेत्र में आधारभूत संरचना के अवसरों एवं निवेश की संभावना।
  3. मेक इन झारखंड और निर्माण के क्षेत्र में संभावना।
  4. शहरी विकास और स्मार्ट सिटी ः झारखंड में निवेश की संभावना।
  5. सूचना एवं प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में निवेश की संभावना।
  6. कृषि एवं खाद्य प्रसंस्करण ः झारखंड में संभावना।
  7. उच्च शिक्षा, कौशल विकास और स्वास्थ्य सेवा केक्षेत्र में निवेश की संभावना।
  8. देश की सोच और आशा में बदलाव का प्रतीक ः मोमेंटम झारखंड।