भोजन में प्रोटीन का महत्त्व

123 views

बच्चो, आप सभी प्रतिदिन भोजन करते हैं। सभी बच्चों को भोजन में कोई विशेष सब्जी और दाल प्रिय होती है। भोजन हमारे शरीर को ऊर्जा प्रदान करता है। हमें पौष्टिक भोजन करना चाहिए। पौष्टिक भोजन यानी कि ऐसा भोजन, जिसमें कार्बोहाइड्रेट्स, प्रोटीन, वसा और विटामिन्स जैसे सभी तत्त्व हों। हमारे भोजन में प्रोटीन होना बहुत जरूरी है। प्रोटीन एक ऐसा पोषक तत्त्व है, जो हमारे शरीर के विकास और संरचना के लिए बहुत जरूरी है। इससे शरीर शक्तिशाली बनता है।

प्रोटीन ऑक्सीजन, हाइड्रोजन और नाइट्रोजन से मिलकर बनता है। यह हमारे शरीर को बहुत सारी बीमारियों से बचाने का काम करता है।

प्रोटीन की कमी से हमारे शरीर की मांसपेशियाँ कमजोर हो जाती हैं और शरीर दुर्बल हो जाता है। प्रोटीन की कमी होने पर हमारा शरीर ठीक से काम नहीं कर पाता। प्रोटीन में 20 तरह के एमिनो एसिड्स होते हैं। इनमें से 8 एमिनो एसिड्स तो हम सबके, विशेषकर आप लोगों यानी कि बच्चों के लिए बेहद जरूरी होते हैं। ये 8 एमिनो एसिड्स हमें भोजन से प्राप्त होते हैं; बाकी 12 एमिनो एसिड्स हमारे शरीर में ही उत्पादित किए जाते हैं। प्रोटीन लेने की एक उम्र होती है। बचपन में बच्चों को प्रोटीन की ज्यादा मात्रा लेनी चाहिए, क्योंकि उस समय उनका शरीर शारीरिक व मानसिक रूप से विकास कर रहा होता है। बढ़ी हुई उम्र में एक निश्चित सीमा से अधिक प्रोटीन लेने से शरीर को नुकसान भी पहुँचता है। अधिक प्रोटीन हमारी पाचन-शक्ति को नुकसान पहुँचाता है।

अनेक सब्जियों एवं दालों में प्रोटीन प्रचुर मात्रा में होता है। सेम की फली, मसूर, उड़द, अरहर, मूँग, दही, सोयाबीन और दूध में प्रोटीन होता है। अंडे एवं मछली में भी प्रोटीन की मात्रा अधिक होती है। आप सभी बच्चों के लिए प्रोटीन का सेवन बहुत जरूरी है। आप प्रोटीन अपनी पसंद के अनुसार दाल, सब्जी या दही के माध्यम से प्राप्त कर सकते हैं।

अब आप भी अपने भोजन में प्रोटीन-युक्त सब्जियों एवं दालों का ध्यान रखना और भरपेट भोजन करना, जिससे कि प्रोटीन का सेवन करके आप स्वस्थ रहें और आगे बढ़ें।