गौतम बुद्ध वन्य जीव अभयारण्य

349 views

बच्चो, आप सभी को चिडि़याघर में घूमना बेहद पसंद है न। वहाँ पर आप सभी जानवरों को एक स्थान पर देख सकते हैं। पूरे भारत में अनेक स्थानों पर चिडि़याघर एवं वन्य जीव अभयारण्य बने हुए हैं। चिडि़याघर और वन्य जीव अभयारण्य में अंतर है। चिडि़याघर में जानवरों को पिंजरों में बंद करके रखा जाता है, जबकि वन्य जीवन अभयारण्य में जानवर आजादी के साथ घूमते हैं।

गौतम बुद्ध वन्य जीव अभयारण्य झारखंड के कोडरमा में है। इसका क्षेत्रफल 259 वर्ग कि.मी. है। गौतम बुद्ध वन्य जीव अभयारण्य में घूमने का सबसे अच्छा समय नवंबर से मार्च के बीच का है।

आप को यहाँ पर तरह-तरह के जानवर देखने को मिलते हैं। इनमें आम जानवरों के साथ ऐसे जानवर भी शामिल हैं, जो लुप्त हो चुके हैं और होने के कगार पर हैं। यहाँ आप चीता, भारतीय हाथी, लंगूर, जंगली कुत्ता, बड़ी गिलहरी, जंगली सुअर, लकड़बग्घा, गिद्ध, गरुड़ आदि को देख सकते हैं। आप जानवरों को देखें और आनंद उठाएँ। उनसे छेड़छाड़ न करें, वरना वे बेकाबू हो सकते हैं और आपको हानि पहुँचा सकते हैं।

इस बार गरमी की छुट्टियों में आप सभी गौतम बुद्ध वन्य जीव अभयारण्य जाना मत भूलना। वहाँ घूमकर आना और हमें भी बताना कि वहाँ पर आप को क्या अच्छा लगा?